Author: admin

० शुभ मुहूर्त में निम्नवत मंत्र को 1०8 बार जप कर पूजा वाली एक सुपारी अभिमंत्रित कर लें। फिर यह सुपारी जिसे भी खिला देंगे, वह आपके वश में हो...

Read More

दूसरों को वश में करके अपनी स्वार्थपूर्ति की भावना सदैव मनुष्यों के मन में रही है। यही कारण है कि वे पति/पत्नी, स्वीत्युरुष, प्रेमी-प्रेमिका तथा शत्रुओं एवं अधिकारियों को वश...

Read More

तत्र-मंत्र विज्ञान में मोहिनी विद्या, सम्मोहन अथवा मोहन भी एक चमत्कारी विद्या है। मोहिनी विद्या के विषय में तांत्रिकों एवं मनोचिकित्सकों द्वारा निरंतर अनुसंधान किए जा रहे हैं और यह...

Read More

तत्र-मंत्र का नाम सुनते ही साधारण व्यक्ति का ध्यान ऐसी अशुभ विद्या की ओर चला जाता है जिसके प्रयोग से किसी का भी अनिष्ट किया जा सकता है या छूमंतर...

Read More